मेरठ को अपराध मुक्त करने पुलिस का अभियान, दस्तक से दहशत में अपराधी

मेरठ को अपराध मुक्त करने पुलिस का अभियान, दस्तक से दहशत में अपराधी

मेरठ, उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले को क्राइम मुक्त बनाने के लिए पुलिस अब सख्ती बरती है। अपराधियों पर नकेल कस रही है। अब हर रविवार और राजकीय अवकाश वाले दिन पुलिस बड़े अपराधियों की सूची बनाती है और सुबह-सुबह दबिशें देना शुरू कर देती है। इन दबिशों का मकसद ये है कि किसी भी तरह का कोई भी अपराधी, जो अपराध करने के बाद जेल से बाहर हो वो कहीं फरार न हो गया हो। किस तरह के आचरण के साथ वो अपना जीवन व्यतीत कर रहा है?

अपराधियों को अपराध नहीं करने देंगे
अब मेरठ पुलिस ने ठान लिया है कि अपराधियों को अपराध नहीं करने देंगे। इसके लिए हर रविवार से पहले थाना स्तर पर एक अपराधियों की सूची तैयार की जाती है। जिसमें लूट, डकैती या फिर गैंगस्टर एक्ट वाले शामिल होते हैं। ये वो अपराधी होते हैं, जो पिछले कई दिनों से जेल से बाहर अपने ठिकानों पर रह रहे होते हैं या फिर किसी मामले में वांछित चल रहे होते हैं। कुछ अपराधी ऐसे भी होते हैं, जो गिरफ्तार नहीं हुए होते हैं।

अपराधियों पर नकेल कसना उद्देश्य
मेरठ एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया का उद्देश्य अपराधियों पर नकेल कसना है। यह देखा जाता है कि अपराधी अपने ठिकानों पर रह रहे हैं या फिर फरार हैं। इसके अलावा यह भी देखा जाता है कि जो अपराधी अपराध करने के बाद अपने ठिकानों पर रह रहे हैं, उनका आचरण किस तरह का है। क्या वह फिर किसी तरीके से अपराध की दुनिया में लिप्त हैं या नहीं? तीसरा उद्देश्य एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि यह भी देखा जाता है कि अन्य जिले से आकर कोई अपराधी अपराध न कर रहा हो।

अवकाश के दौरान पुलिस अभियान 
मेरठ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी के निर्देशानुसार हर रविवार और राजकीय अवकाश के दौरान पुलिस में फोर्स यह अभियान चलाती है। रविवार को यह अभियान मेरठ के दिल्ली गेट थाना क्षेत्र में चलाया गया था। इससे पहले यह अभियान मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र और कोतवाली थाना क्षेत्र में चलाया गया था। जिसमें अब तक 400 से ज्यादा अपराधियों के ठिकानों पर पुलिस दबिश दे चुकी है।

गैंग को खत्म करने तलाश जारी
रविवार को दिल्ली गेट थाना क्षेत्र में चले इस अभियान में पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने जानकारी देते हुए बताया कि इन अपराधियों के पास से 4 तमंचे, 8 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। इस अभियान में मेरठ व आसपास के राज्यों में फोन लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाला गैंग के सरगना और उस गैंग से जुड़े अन्य अपराधियों के ठिकानों पर दबिश दी गई है। ताकि गैंग को खत्म किया जा सके।